मूलांक 6

मूलांक 6:

जिन व्यक्तियों का जन्म महीने की किसी भी 6 तारीख 15 तारीख और 24 तारीख को हुआ है उनका मूलांक 6 होता है मूलांक 6 वाले व्यक्तियों का स्वामी शुक्र है शुक्र है कि आकाश में इतना चमकता और अभावान ग्रह है इसे बिना किसी यंत्र की सहायता से भी देखा जा सकता है

यह ग्रह में चुंबकीय गुण होते हैं तभी तो मूलांक 6 वाले व्यक्तियों में चुंबक की तरह दूसरों को अपनी ओर आकर्षित करने की शक्ति होती है लोग इन्हें इतना अधिक प्यार करते हैं कि वह दूसरे के अथवा अपने अधीनस्थो के लिए पूज्य तक बन जाते हैं शुक्र यानी वीनस कामदेव का प्रतीक है पृथ्वी के समतल प्राणियों की कामवासना का नियंत्रण यही ग्रह रखता है इसी ग्रह के कारण कामवासना जागृत होती है

मूलांक 6 वाले व्यक्ति रति क्रियाओं में चतुर होते हैं स्त्रियां इनकी ओर आकर्षित होती है परंतु ऐसे व्यक्ति केवल स्त्री से नहीं सभी सुंदर वस्तुओं से प्यार करते हैं इसमें मौलिक प्रेम भाव होता है जैसे मां का प्यार की संज्ञा दी जा सकती है

ऐसे व्यक्ति रोमांटिक टाइप के होते हैं परंतु मुख्य भावना सौंदर्य प्रेम की ही होती है यह अपने घर को सुंदर चीजों को सजाते हैं अच्छे मित्रों और सुंदर कलाबाज सामान का इन्हें बड़ा शौक रहता है कल आप उन चीजों से प्रेम की प्रवृत्ति के कारण यह स्वयं भी खूब सजा भरे रहते हैं और गंदी चीजों से इन्हें बहुत ही घटना है सुंदर स्त्री या या पुरुष इनकी समर्थ ही आकर्षक होते रहते हैं प्राय संसार की सुंदर स्त्रिया और पुरुष मूलांक 6 अंक वाले व्यक्तियों के आसपास ही होती है

विशेषताएं:

आप मूलांक 5 वाले व्यक्तियों को छोड़कर शेष सभी मूलांक वाले व्यक्तियों से अधिक मित्र बनाने में सक्षम होते हैं अर्थात 6 15 और 24 तारीख में जन्मे व्यक्तियों के अतिरिक्त मूलांक 3, 6, 9, आदि अंको वालों से भी  मैत्री स्थापित करने में सफल होते हैं क्योंकि यह अन को और तारीखे भी आपके अनुकूल है आप अपने मकान अथवा निवास स्थान को खूब सजाकर वह साफ सुथरा रखते हैं   सम्रत रंगो से आपको मोहब्बत होती है सुंदर चित्र आपको पसंद होते हैं आप की बैठक भी खूब सजी हुई होती है यद्यपि आप बहुत धनी नहीं होते परंतु खरच खूब खुले हाथों से करते हैं आप स्वभाव से बड़े चंचल होते हैं यानी कुछ ना कुछ करते रहते हो एक विषय पर अधिक देर तक चिंतन नहीं करते घूमने फिरने के काम में आप अधिक रुचि रखते हैं और इस प्रकार के कामों में आप सफल भी हो जाते हैं सजना सवरना आपको अच्छा लगता है आधुनिक और बढ़िया कपड़ों का आपको शौक होता है मूलांक 6 अंक वाली स्त्रियां तो और भी अधिक बन संवर कर रहती है यह सुंदर और विलासितापूण साज सज्जा की सामग्री भी जुट आती रहती है यदि ये स्त्रियां पैसे से तंग हो तो भी इन की वेशभूषा से इस बात का अनुमान नहीं लगाया जा सकता श्वेत वस्त्रों से आपको विशेष लगाओ रहता है और ऐसे वस्त्र आप पर खिलते भी बहुत खूब है आप के मुख पर मुस्कान बनी रहती है इसी के बल पर आप दूसरों को अपना बना लेते हैं परंतु आपके मन का रहस्य जानना बड़ा ही कठिन कार्य है आप अधिक समय तक अकेले नहीं रह सकते हो मिंत्र मंडली का सहारा लेना ही पड़ता है आप जब क्रोधित हो जाते हैं तो किसी प्रकार का विरोध सहन नहीं करते हो आप जैसे प्रेम करते हैं हो उसके लिए सब कुछ करने को तैयार हो जाते हो अनुचर के समान उसकी सभी इच्छाएं पूरी करने को तत्पर रहते हो क्योंकि अपने मित्रों का स्वागत सत्कार करके आप को बड़ी ही प्रसंता महसूस होती है

सावधानियां
किसी ना किसी प्रकार की कमी या कोई दोष प्रत्येक इंसान में होता है आप भी इसके अपवाद नहीं है यदि प्रत्येक व्यक्तियों को अपने दोषों का ज्ञान हो जाता है और वह उससे बचने और उसमें सुधार लाने का आयतन करें तो वह और भी अधिक सफल हो जाता है आप भी निम्नलिखित बातों से सावधान रहें आप हर जगह अपनी ही बात पर अपने ही तक पर अड़े ना रहे जहां दूसरों की बात सही हो उसे मान लेना ही आपके लिए लाभदायक होगा उतावलापन आपको शोभा नहीं देता है इस पर आप कंट्रोल करें हर बात को समझने की कोशिश करें कि किसी भी बात के दो पहलू होते हैं और किसी भी नशे की आदत को सीमा से अधिक ना बढ़ने दें नशा नहीं करें तो आपके लिए बहुत अच्छा होगा मीठे और स्वादिष्ट और अधिक चटपटे भोजन या व्यंजनों के प्रति अत्यधिक रुझान से आपका स्वास्थ्य नरम पड़ सकता है अतः इन को अधिक मोह छोड़ दे आप सहायक श्रम और व्यायाम आदि से घबराते हैं परंतु आपके लिए यह सब ठीक है आपको प्रतिदिन टहलना चाहिए और व्यायाम द्वारा अपनी स्वसन क्रिया को सही रखने का जतन करना चाहिए प्रत्येक व्यक्ति पर विश्वास न करें इसमें धोखा भी हो सकता है अत्यंत भरोसा के कारण आपको कई बार परेशानी उठाई भी है और उठाई भी जा सकती है स्त्री जाति को अधिक महत्व मत दीजिए इसके साथ अधिक संपर्क से भी आपको हानि उठानी पड़ सकती है अधिक विलासिता के चक्कर में भी आप फंस सकते हो जीवन को भोग में मत बनाइए अधिक कार्यशील सुंदर और स्वस्थ रहने के लिए आवश्यकता है कि आप अपनी इंद्रियों पर अंकुश लगाए इससे आपको जीवन और अधिक सफल बनेगा दूसरी स्त्री है या पुरुष के चक्कर में पड़ने से आपको ग्रस्त जीवन में बिगड़ा देखा जा सकता है अपनी स्त्री या पति के सामने किसी अन्य स्त्री या पुरुष की प्रशंसा मत कीजिए कभी-कभी बदले की भावना में आप इतने फंस जाते हैं कि अपने लक्ष्य से भी दूर हो जाते हैं जिससे आपको बड़ी हानि होती है और एक तनावपूर्ण माहौल सा बन जाता है
अनुकूल एवं प्रतिकूल समय:

आने वाला समय आपके लिए जैसे अप्रैल से 20 मई और 21 सितंबर से 20 अक्टूबर तक का समय है आपके लिए अनुकूल रहेगा इस काल में आपको आवश्यक ही सफलता मिलेगी लेकिन नवंबर का महीना आपके लिए ठीक नहीं साबित होगा और बाकी महीने मध्य ही रहेंगे
शुभ अशुभ वर्ष तारीख एवं बार:

आपके जीवन का 6, 15, 24, 35, 42 अधिक श्रेष्ठ रहेगा किसी प्रकार से 6, 15 तथा 24 तारीख में भी 21 अप्रैल से 20 मई और 21 अक्टूबर के दिनों में आने वाली यह सभी तारीख के बड़ी ही उत्तम मानी जा सकती है इन दिनों इन जन्म तारीख को का महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है इन महीनों में किया हुआ कार्य भी अवश्य ही सिद्ध होता है इन तारीखों के साथ ही यदि बुधवार और शुक्रवार में से कोई दिन बड़े तो सोने में सुगंध के समान होगा
अनुकूल एवं प्रतिकूल रंग:

आपकी रूचि और ग्रह का प्रभाव के कारण आपके लिए सफेद या हल्के अथवा गहरे नीले रंग उपयुक्त रहेंगे यूं तो गुलाबी रंग भी आपके लिए अच्छा है परंतु काला और गहरा बैंगनी रंग आपको भूल कर भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

भाग्यशाली रत्न:

मूलांक 6 वाले व्यक्तियों के लिए सबसे श्रेष्ठ हीरा का रत्न होता है इसे चांदी या प्लेटटिनम की अंगूठी में धारण किया जा सकता है वैसे तो उपरत्न में फिरोजा भी आपके लिए उपयुक्त और सौभाग्य वर्धक रतन है प्राय काल उठकर अंगूठी का दर्शन अवश्य ही करें इसके करने के बाद आपको एक पॉजिटिव एनर्जी महसूस होगी और बाकी रत्नों के बारे में आप महाराज जी से भी संपर्क कर सकते हैं

देवता ध्यान मंत्र एवं व्रत उपवास:

मूलांक 6 वाले व्यक्तियों के लिए पुरुषों को कातर्वीयार्जुन नामक देवता की भी पूजा करनी चाहिए स्त्रियों के लिए शुक्रवार को मां संतोषी का व्रत भी करना चाहिए इस दिन खट्टा और चटपटा भोजन नहीं करना चाहिए पुरुषों को भी चाहिए कि वह शुक्रवार का व्रत करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *